Narmada Manav

पंडित दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना के दूसरे चरण के उद्घाटन कार्यक्रम में नगर निगम ने सीएम शिवराज सिंह के साथ, भूपेंद्र सिंह को भी बताया मुख्यमंत्री, फोटो वायरल होने पर दूसरा कार्ड छपवा कर बांटा

मुरैना। मुरैना नगर निगम की एक भूल की चर्चा चारों ओर हो रही है। मध्य प्रदेश के अन्य जिलों की ही तरह यहां भी पंडित दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना के दूसरे चरण के तहत रसोइयों का उद्घाटन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के लिए मुरैना नगर निगम की ओर से जो कार्ड छपवाया गया, उसमें एक बड़ी गड़बड़ी सामने आई है।  कार्ड में प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बताने के साथ-साथ नगरीय निकाय मंत्री भूपेंद्र सिंह को भी मुख्यमंत्री लिख दिया गया। इतने में भी नगर निगम को अपनी गलती का अहसास नहीं हुआ।

इस उद्घाटन कार्यक्रम के लिए मुरैना नगर निगम की ओर से आमंत्रण कार्ड छपवाए थे, कार्ड में एक तरफ सीएम शिवराज सिंह चौहान का तस्वीर लगी हुई थी। वहीं दूसरी ओर नगरीय निकाय मंत्री भूपेंद्र सिंह की फोटो लगाई गई थी। दोनों मंत्रियों की फोटो के नीचे मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश लिखा गया था।

शहर में कार्ड बांट दिए गए, कार्ड बंटते ही वायरल हो गया। जब  लोगों ने नगर निगम को ट्रोल करना शुरू कर दिया, तब सोशल मीडिया के जरिए नगर निगम को गलती का पता लगा।  इसके बाद नगर निगम कमिश्नर ने जिम्मेदारों को फटकार लगाई। दोषियों पर कार्रवाई की बात कही जा रही है। नगर निगम कमिश्नर ने बाद में अंत्योदय योजना के लोकार्पण समारोह के नए निमंत्रण पत्र छपवाकर शहर में बंटवाए। लेकिन तब तक दो मुख्यमंत्रियों वाले आमंत्रण पत्र की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है।

पंडित दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना समारोह के कार्ड पर मंत्री का गलत पद लिखना इस बात की गवाही देता है कि सरकारी दफ्तरों में कितना शिद्दत से काम किया जा रहा है, जनता का लाखों करोड़ों का खर्चा कार्यक्रमों पर हो रहा है, एक–दो लोगों की गलती से प्रशासन की किरकिरी तो हो ही रही है, वहीं पैसों की बरबादी भी हो रही है। सोशल मीडिया पर कार्ड की फोटो छाई हुई है, लोग इस पर कई कमेंट्स कर रहे हैं। भूपेंद्र सिंह के बारे में  लिखा जा रहा है कि गलती से ही सही मुख्यमंत्री का ओहदा तो मिला।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह एपी के 100 जगहों पर दीनदयाल अंत्योदय योजना के तहत रसोइयों का लोकार्पण कर रहे हैं। यह आनलाइन उद्घाटन उज्जैन, ओंकारेश्वर, महेश्वर, अमरकंटक, मैहर, ओरछा और चित्रकूट के साथ-साथ इंदौर, उज्जैन, धार, छतरपुर और मुरैना जिलो में होगा, इन स्थानों में गरीबों को सस्ते में अच्छा खाना देने की शुरूआत की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here