Narmada Manav

भोपाल । मध्य प्रदेश में माफिया के खिलाफ अभियान को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान सिर्फ हेडलाइन बनाने के लिए आते है। प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा को प्रदेश की कानून व्यवस्था से कोई लेना देना नहीं है उन्हें चिंता है तो सिर्फ मुख्यमंत्री कैसे बना जाए और कहीं उनके मूछ का कोई बाल सफेद तो नहीं दिख रहा। प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा तो चलती फरती ब्यूटी पार्लर की दुकान है। यह कहना है मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष, पूर्व मंत्री और मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी का।


पटवारी ने प्रदेश में महिलाओं,बच्चियों के खिलाफ हो रहे अपराधों, अपहरण की घटनाओं और विधायकों को मिल रही धमकियों को लेकर प्रदेश की भाजपा सरकार पर सवाल खड़े किए।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में अराजकता का महौल है, चारों तरफ से महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कृत्य और अपहरण की घटनाओं की खबरें आ रही है। यही नहीं अब मध्य प्रदेश के माननीय विधायकों को भी धमकियां मिलने लगी है। जीतू पटवारी ने बताया कि पिछले 12 महिनों में 4,532 महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं सामने आयी है, हर दिन मध्य प्रदेश में 13 बहिन-बेटियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं हुई है और यह सब शिवराज सरकार के राज में हो रहा है। जीतू पटवारी ने कहा कि गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा किसानों को आतंकी कहने वाली कंगना रनौत को लेकर बयान देते है कि बहिन परेशान मत होना तुम्हारी सुरक्षा की गारंटी हमारी है, तो नरोत्तम मिश्रा जी आप यह बताओ कि हर दिन 13 बहिन-बेटियों के साथ जो घटनाएं हो रही है उसकी जिम्मेदारी किसकी है?

जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेश में अब माननीय विधायक भी सुरक्षित नहीं है। प्रदेश के उदयपुरा से विधायक देवेन्द्र पटेल से फिरौती मांगी जा रही है उन्हें धमकी मिल रही है, बड़वानी से आदिवासी विधायक कलावती भूरिया को बीजेपी पदाधिकारी और पूर्व विधायक विधायक की नाक काटने, हाथ काटने की धमकी देते है और इसके बाद भी खुलेआम घूम रहे है। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को धमकियाँ मिल रही है लेकिन पुलिस मौन है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की शिवराज सरकार माफिया के खिलाफ अभियान छेड़ने की बात तो करती है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के गुंडों से प्रदेश को कौन बचाएगा। शिवराज जी आप कैसा शासन चलाना चाहते है यह समझ से परे है।

जीतू पटवारी ने कहा कि मध्य प्रदेश में पेट्रोल- डीजल के दाम आसमान छू रहे है लेकिन प्रदेश सरकार अपने टैक्स कम नहीं कर रही। गैस के दाम पिछले दो माह में 75 रुपए बढ़ गए लेकिन जो मुख्यमंत्री तीन पैसे पेट्रोल पर बढ़ने पर साइकिल से मंत्रालय जाने की नौटंकी करते थे वह मोदी जी के सामने मुँह नहीं खोल पा रहे हैं क्योंकि उन्हें जनता की फिक्र नहीं, मुख्यमंत्री बने रहने की चिंता है।
इस दौरान छतरपुर के हरपालपुर में जहरीली शराब पीने के हुई 4 मौतों के मामले में जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि उज्जैन में 14 लोगों की मौत हुई, फिर मुरैना में 27 लोग जहरीली शराब पीने से मर गए और अब छतरपुर में 4 लोगों की एक बार फिर जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। क्या जिला कलेक्टर और एसपी को बदल देने से इन घटनाओं पर विराम लग जाएगा यह शिवराज जी बताएं। क्योंकि एक तरफ उनके पार्टी के नेता जहाँ वेलेटाईन डे का विरोध करते हुए कानून तोड़ते है तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री जी अपनी धर्मपत्नी के साथ सैर सपाटे पर वेलेटाईन डे मनाने जाते है और पूछते है कि क्या मगरमच्छ और घड़ियाल एक साथ रह सकते है आखिर उनका इशारा किसकी तरफ है। यह वह स्पष्ट करें । प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार है यह भी बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here