Narmada Manav
  • विधानसभा अध्यक्ष ने कहा- मैं पूर्व वि.स. अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा एवं एनपी प्रजापति को अपना मार्गदर्शक मानूंगा।
  • नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने सुबह 10:30 बजे कांग्रेस विधायकों से चर्चा की।

विधानसभा का बजट सत्र आज सुबह 11 बजे शुरू हो गया है। सबसे पहले प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू कराई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहन ने रीवा के देवतालाब से 4 बार के ‌BJP विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बनाने जाने का प्रस्ताव रखा। इसका समर्थन गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया।

कांग्रेस की तरफ से इस पद के लिए किसी भी विधायक ने नामांकन दाखिल नहीं किया। ऐसे में गौतम विधानसभा के निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान मान्य परंपराओं का पालन किया गया। अध्यक्ष का चुनाव होने के बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण होगा।

निवार्चन के बाद विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा कि मैं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डा. सीतासरन शर्मा और एनपी प्रजापति को अपना मार्गदर्शक मानूंगा। मंत्री गोपाल भार्गव सहित कई विधायक 6-7 बार जीत कर आए। करीब 90 विधायक नए चुन कर आए हैं। कोरोना के कारण नए विधायकों को सदन की कार्यवाही का अनुभव नहीं हो पाया है। सीनियर विधायकों से अपेक्षा है कि वे नए विधायकों को अनुभव साझा करें।

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ सुबह 10:15 बजे विधासभा स्थित अपने कक्ष में विधायकों से चर्चा की। इस दौरान पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा, जीतू पटवारी, डा. गोिवंद सिंह, सज्जन सिंह वर्मा और तरुण भनोट सहित कई विधायक मौजूद रहे। इस दौरान बजट सत्र में विपक्ष की भूमिका को लेकर चर्चा हुई। इसके बाद कमलनाथ प्रोटेम स्पीकर द्वारा बुलाई गई कार्यमंणत्रा समिति की बैठक में शामिल हुए। जिसमें सदन के संचालक को लेकर बात हुई।

शिवराज ने कमलनाथ से की मुलाकात

विधानसभा सत्र से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व CM व कांग्रेस नेता कमलनाथ के आवास पर पहुंचकर मुलाकात की और उनका हालचाल जाना। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार को इंदौर के डीएनएस अस्पताल गए थे. इस दौरान लिफ्ट नीचे गिर गई। उनके साथ कांग्रेस विधायक सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी समेत अन्य नेता भी लिफ्ट में सवार थे।

मंत्री सारंग बोले- उपाध्यक्ष का पद BJP अपने पास रखेगी

सदन की कार्यवाही शुरु होने से पहले चिकित्सा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कमलनाथ की बनाई परंपरा का पालन करते हुए BJP विधानसभा उपाध्यक्ष पद भी अपने पास रखेगी। उन्होंने कहा कि हमने सत्ता में रहते हुए 15 साल विपक्ष को विधानसभा का उपाध्यक्ष पद दिया था, लेकिन कमलनाथ सरकार ने इस परंपरा को खत्म कर दिया था। इसलिए अब कांग्रेस की बनाई गई परंपरा का BJP पालन करेगी।

महाशिवरात्रि के पहले खत्म हो सकता है सत्र

बजट सत्र महाशिवरात्रि (11 मार्च) के पहले ही समाप्त होने के आसार हैं। आज शुरू हुए सत्र में मुख्य रूप से वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया जाना है। 26 मार्च तक निर्धारित इस 33 दिवसीय सत्र में 23 बैठकें होना हैं, लेकिन इसकी संभावना बहुत कम है। सदन में 2 मार्च को बजट पेश किया जाएगा।

इस बात के संकेत हैं कि इसकी मांगों पर जल्द बहस पूरी कर उसे पारित करा लिया जाए। सूत्रों के अनुसार सत्र में 10 से 13 बैठकें ही होने की संभावना है। 11 मार्च को महाशिवरात्रि पर अवकाश है, तब से लेकर 14 मार्च तक चार दिन कोई बैठक नहीं होना है। इसे देखते हुए पूरी संभावना है कि 5 मार्च तक यदि काम पूरा नहीं हुआ, तो अधिकतम 10 मार्च तक विधानसभा की कार्यवाही पूरी कर ली जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here