Narmada Manav

कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा का बुधवार को 73 साल की उम्र में निधन हो गया था. शर्मा कैंसर से पीड़ित थे और पिछले कुछ समय से बीमार थे. कैप्टन सतीश शर्मा गांधी परिवार के काफी करीबी लोगों में से थे। 

नई दिल्‍ली. कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा के पार्थिव शरीर को शुक्रवार सुबह कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष और नेता राहुल गांधी ने कंधा दिया. बता दें कि कैप्‍टन सतीश शर्मा का आज अंतिम संस्‍कार किया जाना है. सतीश शर्मा का बुधवार को 73 साल की उम्र में निधन हो गया था. शर्मा कैंसर से पीड़ित थे और पिछले कुछ समय से बीमार थे. कैप्टन सतीश शर्मा गांधी परिवार के काफी करीबी लोगों में से थे. यहां तक की सतीश शर्मा ने राजीव गांधी के कहने पर ही राजनीति में कदम रखा था.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी के कई अन्य नेताओं नेपूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा के निधन पर दुख जताया और कहा कि उनकी कमी हमेशा महसूस होगी.

राहुल गांधी ने सतीश शर्मा के निधन पर ट्वीट करते हुए कहा था कि, कैप्टन सतीश शर्मा के निधन के बारे में सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. उनके परिवार एवं मित्रों के प्रति मेरा स्नेह और संवेदना है. हम उनकी कमी महसूस करेंगे. 

प्रियंका ने कहा, ‘कैप्टन की आत्मा को ई्श्वर शांति प्रदान करे. वह दिल्ली के बहुत अच्छे, दोस्ती निभाने वाले व्यक्ति थे और आखिर तक वफादार थे. जिदंगी को उन्होंने बेहतरीन ढंग से जिया. मैं उनकी कमी बहुत महसूस करूंगी.’

शर्मा लंबे समय तक अमेठी लोकसभा क्षेत्र में गांधी परिवार के प्रतिनिधि रह चुके थे. 73 साल के शर्मा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के करीबी माने जाते थे. शर्मा जनवरी 1993 से दिसंबर 1996 तक पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री रहे थे. इसके अलावा वह कई संसदीय समितियों के भी सदस्य रहे थे. शर्मा को पहली बार 1986 में राज्यसभा जाने का मौका मिला था. यही नहीं राजीव गांधी की मौत के बाद अमेठी लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में उन्हें जीत मिली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here