Narmada Manav

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राज्यसभा के साथ-साथ लोकसभा में भी आज पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर बयान देंगे। इस बीच पूर्वी लद्दाख स्थित वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच बीते कई महीनों से जारी तनाव की स्थिति के खत्म होने की उम्मीद नजर आई है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज राज्यसभा में पूर्वी लद्दाख की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी। वे आज लोकसभा में भी पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर बयान देंगे। उन्होंने राज्यसभा में बताया कि दोनों पक्षों के बीच पूर्ण स्थिति को बहाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चीन पैंगोंग झील के उत्तरी तट पर फिंगर 8 के पूर्व में अपने सैनिकों को रखेगा। भारत अपने सैनिकों को फिंगर 3 के पास अपने स्थायी बेस पर रखेगा।

रक्षा मंत्री के राज्यसभा में जवाब देने के बाद भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख इलाके में पिछले करीब एक साल से जारी सीमा विवाद अब खत्म होता दिख रहा है। राजनाथ ने राज्यसभा में बताया कि पैंगोंग झील के पास विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच समझौता हो गया है। दोनों देशों की सेनाओं को अब पीछे हटना होगा। 

अप्रैल 2020 से पहले की स्थिति को अब बहाल कर दिया जाएगा। बता दें कि चीन और भारत दोनों ने LAC पर स्थित पैंगोंग झील के इलाके के फ्रंट लाइन से अपने सैनिकों को वापस लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल वू कियान का हवाला देते हुए, चीनी मीडिया ने बताया था कि लद्दाख में पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारे पर तैनात दोनों देशों की सेना ने बातचीत के दौरान आम सहमति के अनुसार पीछे हटना शुरू कर दिया है।

वहीं, बुधवार को, पीएम मोदी ने लोकसभा में बोलते हुए प्रदर्शनकारी किसानों को संबोधित किया और तीनों कृषि कानूनों का बचाव किया, जबकि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने विरोध में वॉकआउट किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here