Narmada Manav

मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व मंत्री और पूर्व पीसीसी के चीफ अरुण यादव ने जी-23 के नेताओं पर हमला साधते हुए उन्होंने कड़ी निंदा करते हुए कहा कि जो लोग गांधी परिवार और कांग्रेसी नेतृत्व पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हैं मैं उनसे केवल एक प्रश्न पूछना चाहता हूं कि जब भी देश और देश की जनता मुसीबत के समय होती है तो वह अन्य कांग्रेस के नेता जो गांधी परिवार का लगातार विरोध करते हैं वह कभी मैदान में क्यों नहीं नजर आते हैं और वह मैदान में उतरकर लोगों का और कांग्रेस का नेतृत्व क्यों नहीं करते हैं जब भी आमजन गरीबों और मजदूरों किसानों पर आंच आ जाती है तब केवल एक ही परिवार है और एक ही परिवार के व्यक्ति हैं जो जनता के साथ और जनता के साथ-साथ पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

इसके बाद अरुण यादव ने अपने ट्वीट में लखीमपुर खीरी में हुए हादसे में जिस प्रकार से एक किसान को मंत्री के बेटे ने गाड़ी से कुचल कर मार दिया जिस की लड़ाई में श्रीमती प्रियंका गांधी और राहुल गांधी उतर गए उस बात की उन्होंने बहुत ही सराहना की और उन्होंने कहा कि आज भी यदि किसानों की गरीबों की और कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं की कोई लड़ाई लड़ने वाला है तो केवल राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी हैं।

हम आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा केंद्रीय मंत्री के बेटे की कार के द्वारा एक किसान की कुचलकर हत्या कर दी गई थी जिसके बाद पूरे देश में बवाल रहा और इसी बवाल को भुनाने और विधानसभा चुनाव उत्तर प्रदेश के अंतर्गत को लेकर के तमाम पार्टियां अपने-अपने दावे मजबूत कर रही थी वही प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने मास्टर स्ट्रोक लगाते हुए इस मौके को हाथों हाथ लिया था और किसानों के बीच उपस्थिति दर्शाने की कोशिश की।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here