Narmada Manav

– भोपाल रेल मंडल के अन्य प्रोजेक्ट व लाइनों के लिए भी बजट में मिला आवंटन
भोपाल।
अब बरखेड़ा-बुदनी रेल लाइन के काम में तेजी आएगी। इसके लिए केंद्रीय बजट (इसमें में रेलवे बजट भी शामिल है) में बरखेड़ा-बुदनी रेल लाइन के लिए 105 करोड़ रुपए मिले हैं। यह 33 किलोमीटर का सेक्शन हैं, जो हबीबगंज से इटारसी के पड़ता है। इसमें सबसे बाद में तीसरी रेल लाइन काम चालू हुआ है और सबसे अधिक समय इसी में लगना है। यह दुर्गम रेलखंड है, जिसमें तीसरी रेल लाइन बनाने में कई चुनौतियां आ रही है। भोपाल से इटारसी के बीच बाकी के रेल खंडों में तीसरी रेल लाइन का काम 50 से 95 फीसदी तक पूरा हो गया है लेकिन जब तक बरखेड़ा-बुदनी रेल खंड में लाइन नहीं बिछेगी, यात्रियों को भोपाल से इटारसी के बीच बाकी के रेल खंडों में डाली जा रही तीसरी रेल लाइन का फायदा नहीं मिलेगा। बजट में अन्य सुविधाओं के लिए भी राशि मिली है।

भोपाल-रामगंजमंडी लाइन के लिए भी 105 करोड़ मिले
मप्र को राजस्थान से रेल लाइन के जरिए सीधे जोड़ने के लिए नई रेल लाइन बिछाई जा रही है। राजस्थान की तरफ से रेल लाइन का काम तेजी से चल रहा है। यह प्रधानमंत्री के फास्ट ट्रेक प्रोजेक्ट में शामिल है। भोपाल की तरफ से काम ने अभी रफ्तार नहीं पकड़ी है। इस नई लाइन के लिए भी बजट में 105 करोड़ रुपए मिले हैं।

भोपाल-बीना लाइन पर दौड़ रही ट्रेनें, 5 करोड़ों से होगा सुधार
भोपाल से बीना के बीच तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनें दौड़ने लगी हैं। फिर भी बजट में इस लाइन के मेंटेनेंस के लिए 5 करोड़ रुपए मिले हैं। वहीं हबीबगंज-बरखेड़ा के बीच तीसरी रेल लाइन का काम 80 फीसदी हो गया है, बाकी के काम के लिए 20 करोड़ रुपए आवंटित हुए हैं। इसी तरह बनकर तैयार बुदनी-इटारसी तीसरी रेल लाइन के लिए 15 करोड़ रुपए मिले हैं। होशंगाबाद से आगे पंवारखेड़ा-जुझारपुर सिंगल लाइन फ्लाईओवर के लिए 140 करोड़ मिले हैं।

ये राशि भी भोपाल मंडल को मिलेगी
बजट में पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर जोन (तीनो मंडल, भोपाल, जबलपुर व कोटा) को यात्री सुविधा के लिए 110.26 करोड़, कर्मचारी कल्याण के लिए 43.45 करोड़, कारखाना उत्पादन के लिए 54 करोड़, सिंग्नल व दूरसंचार के लिए 72.16 करोड़, पुल, सुरंग, सड़क के लिए 24.70 करोड़, पुरानी लाइन के नवीनीकरण के लिए 470 करोड़, सड़कों के नीचे पुल-पुलिया बनाने 236.40 करोड़, फाटकों के लिए 26.31 करोड़, यातायात सुविधा के लिए 76.90 करोड़ रुपए मिले हैं। यह राशि पूरे जोन पर खर्च होनी है। यानी भोपाल रेल मंडल के हिस्से में भी आएगी। इसी राशि से सभी क्षेत्रों में विकास होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here