Narmada Manav

बच्चों और शहर के लोगों को शहीदों की वीर गाथा से रू-ब-रू कराने के लिए एसएनजी स्कूल की दीवार पर एक शहीद गैलरी बनाई गई है। लेकिन यहां पर हर दिन इन शहीदों का अपमान किया जा रहा है। न तो गैलरी का रखरखाव किया जा रहा है न ही यहां गंदा पानी बहने से रोका जा रहा है। नपा द्वारा एसएनजी में लगाई गई शहीद गैलरी में शहीदों की तस्वीरों से लोग छेड़-छाड़ कर रहे हैं। इन तस्वीरों को खुले में रखा है। बारिश में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं हैं। इतना ही नहीं गैलरी में अवारा जानवर भी पहुंच रहे हैं। जबकि नगर पालिका को गैलरी में शहीदों के फोटो को स्थापित करने के पहले उनकी सुरक्षा और रोशनी के पर्याप्त इंतजाम किए जाने थे। लेकिन नपा ने लापरवाही के कारण एेसा नहीं किया।

इनकी लगी तस्वीर- चंद्रशेखर आजाद, बाल गंगाधर तिलक, रानी लक्ष्मी बाई, विनोवा भावे, राजगुरु, मंगल पांडे, राम प्रसाद बिस्मिल अशफाक उल्ला खां, सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाला लाजपत राय क्रांतिकारियों की तस्वीरें यहां लगाई गई हैं।

4 लाख की लागत से बनी गैलरी- नगर पालिका की शहीद गैलरी करीब ४ लाख रुपए की लागत से बनाई गई है। जिसका उद्देश्य शहरवासियों को शहीदों के बलिदान और उनकी जीवनगाथा से परिचय कराना है। नगर पालिका के सब इंजीनियर विष्णु यादव ने बताया कि अभी इसमें कुछ काम होना शेष है।

तस्वीरों के नीचे से बह रहा गंदा पानी- दरअसल नपा ने प्रयास किया था कि स्कूल की दीवार पर महापुरुषों की वीरता को दर्शाती इस गैलरी से लोग इनके बारे में जानेंगे। लेकिन नपा भूल गई कि महापुरुषों की इन फोटो के नीचे गंद पानी बह रहा है। जिससे महापुरुषों का रोज अपमान हो रहा है। दरअसल हर तस्वीर के नीचे एक पाइप लगा है, जहां से एसएनजी स्कूल के ग्राउंड का गंदा पानी बह रहा है। इस ओर जिला प्रशासन का भी ध्यान नहीं जा पा रहा है। शहर के लोग भी नपा के इस काम से अब नाराज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here