Narmada Manav

बुदनी , कोरोना महामारी के समय जब पूरी दुनिया मंदी कि चपेट में है।
ऐसे में सरकार के द्वारा निजी स्कूलों को शिक्षण शुल्क लेने की अनुमति देकर अभिभावकों पर आर्थिक बोझ लाद दिया गया है। इसको लेकर भारतीय छात्र संगठन ने भाजपा सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि तत्काल फीस के नाम पर हो रही खुली लूट को बंद किया जाए, वरन एनएसयूआई अभिभावकों के साथ शामिल होकर आंदोलन करने को विवश होगी।
इस संबंध में एनएसयूआई बुदनी के आयुर्वेद शर्मा एवं नमन यादव ने बताया की कि इस संबंध में उनके द्वारा श्री कलेक्टर मोहदय जिला सीहोर द्वारा अनु वीभागीय अधिकारी मोहदय बुधनी तहसील बुधनी ज़िला सीहोर को पत्र भेजा गया है। जिसमें बताया गया की अशासकीय विद्यालयों द्वारा छात्रों से फीस वसूली जा रही है । छात्र छात्राओं के पालकों का कहना है कि जब छात्र छात्राएं स्कूल ही नहीं गए तो फीस कैसे वसूली जा रही है साथ ही ? साथ आप का ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहते हैं कि छात्रों के पालकों से अन्य कई गतिविधियों के नाम पर भी छात्रों से 3 से लेकर 8 हजार तक की फीस वसूली जा रही है। अत: आपसे अपील है कि इस महामारी के समय भी यदि छात्रों के पालकों को इन समस्या का सामना करना पड़ रहा है आपसे निवेदन है कि इस समस्या का तुरंत निराकरण करे अन्यथा भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन आंदोलन के लिए बाध्य होगा और अभिभावकों के साथ मिलकर बड़ा आंदोलन करेगा ।
इस मौके पर विशेष रूप से श्री प्रमोद चौहान , भूपेन्द्र निमोदा , राजीव दुबे , मोहित खत्री , शैलेन्द्र इवने , लेखराज ठाकुर , विक्रम , अरमान , गोलू एवं अन्य सदस्यगण मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here