Narmada Manav

होशंगाबाद। अब तक आप मानते होंगे कि चोरों का नाम सुनते ही आम लोगों को डर लगता है लेकिन पुलिस लाइन के प्रवेश द्वारों पर लगे ताले देखकर अंदाजा लग जाएगा कि पुलिस को भी चोरों से डर लगता है। पुलिस लाइन के दो प्रवेश द्वार हैं और दोनों पर ही विभाग ने ताले लगाए हुए हैं। वजह साफ है कि बीते दिनों अवैध रेत परिवहन करते पकड़े गए डंपर लाइन से चोरी चले गए थे, जिसके बाद पुलिस महकमे ने यह कदम उठाया है लेकिन इससे यह भी साफ है कि चोरों पर नकेल कसने की बजाए पुलिस खुद चोरी से बचने के दूसरे उपाय करने में जुटी है। पुलिस लाइन से चोरी गए दो डंपर के बाद अधिकारियों के निर्देश पर प्रवेश द्वार पर ताला लगा दिया गया है। जिसके बाद देहात थाने के जरिए लाइन में रहने वाले पुलिसकर्मी और उनके परिजन आवागमन करते हैं। ऐसे में पुलिस के सबसे ज्यादा सुरक्षित क्षेत्र पुलिस लाइन से डंपर का चोरी होना अपने आप में सवालिया निशान है और उसके बाद पुलिस द्वारा उठाए गए कदम आम नागरिकों को कैसे भरोसा दिला पाएंगे कि पुलिस उनकी सुरक्षा के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है। पूर्व में विभाग में होम गार्ड कार्यालय के सामने स्थित गेट को बंद कर एक ही प्रवेश द्वार खुला रखा गया था और डंपर चोरी की घटना के बाद दूसरे प्रवेश द्वार पर भी ताला डाल दिया गया है। 

बाक्स

दूसरी बार हुई डंपर चोरी

पुलिस कस्टडी से डंपर चोरी का यह पहला मामला नही है। इसके पूर्व बाबई थाने से भी पुलिस अभिरक्षा में रखे डंपर चोरी जा चुके हैं। हालिया मामले में अवैध रेत परिवहन के विरूद्ध की गई कार्यवाही के दौरान जप्त डंपर पुलिस लाइन लाए गए थे जहां से दो डंपर गायब हो गए थे। जिसकी रिपोर्ट कोतवाली थाने में दर्ज कराई गई थी। हालाकि पुलिस ने डंपर जप्त कर दो चालकों के विरूद्ध चोरी का मुकदमा भी दर्ज कर लिया है लेकिन पुलिस लाइन के प्रवेश द्वार पर ताला लगाने और ऐसे चोरी रोकने का जिले में यह पहला मामला है।

इनका कहना है

पुलिस लाइन के दो प्रवेश द्वार में से एक को सुरक्षा की दृष्टि से बंद करने के निर्देश पूर्व में दिए गए थे। बीते दिनों दो डंपर चोरी होने के बाद सुरक्षा की दृष्टि से ताला लगाने का आदेश दिए गए हैं। 

घनश्याम मालवीय, एएसपी, होशंगाबाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here