Narmada Manav
प्रशासन ने शनिवार को एक मंत्री और विधायक के संरक्षण में चल रही अवैध रेत खदान पर छापा मारा। यहां जेसीबी और पोकलेन मशीन से अवैध उत्खनन किया जा रहा था। मौके से 50 डंपर भी जब्त किए। मशीन चालकों ने विरोध किया तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया। अवैध उत्खनन करने वाले भोपाल और होशंगाबाद के कांग्रेस और भाजपा नेताओं से जुड़े हुए हैं। इस कारण प्रतिबंध के बावजूद मशीनों से बंद खदान से अवैध उत्खनन कर रहे थे। यह था मामला 
एसडीएम आरएस बघेल दलबल के साथ शनिवार सुबह बाबई के तवा नदी की बंद जावली रेत खदान पर पहुंचे। अमले को देख यहां अवैध उत्खनन कर डंपर भर रहे ड्राइवर एवं अन्य लोग भागने लगे। यहां से टीम ने करीब 50 डंपर-एलपी ट्रक सहित जेसीबी और पोकलेन को जब्त किया है। कार्रवाई में बाधा पहुंचा रहे कुछ लोगों व चालकों को पुलिस ने मौके से खदेड़कर हिरासत में भी लिया है। जब्त डंपर-ट्रकों सहित मशीनों को जिला बाबई थाना परिसर में लाकर खड़े कराया जा रहा है। इसके लिए दूसरे ड्राइवरों की मदद ली जा रही है। इनका कहना है… एसडीएम बघेल ने बताया कि बाबई के जावली तवा नदी तट पर छापा मारा गया है। यहां अवैध खनन और परिवहन चल रहा था। मौके से करीब 50 डंपर-ट्रकों को जब्त किया गया है। इनमें कुछ भरे एवं कुछ खाली हैं। खनन स्थल से पोकलेन एवं जेसीबी मशीन भी पकड़ी गई है। इन मशीनों से अवैध उत्खनन कराया जा रहा था। यह खनन व परिवहन कौन करा था, इसका पता लगाया जा रहा है। जावली में स्टॉकों की भी जांच की जा रही है। जो भी अवैध स्टॉक होंगे उन्हें जब्त कर प्रशासन अपने कब्जे में लेगा। छापे की नहीं दी किसी को सूचना
आला अफसरों ने इस छापे के बारे में अधिनस्थ कर्मचारियों को तक जानकारी नहीं दी। शनिवार अल सुबह सभी को बाबई पहुंचने के लिए आदेश हुए। खनिज और बाबई पुलिस थाना की टीम को जावली पहुंचकर कार्रवाई के लिए कहा गया। इसके बाद टीम ने छापेमारी की और मौके से डंपर-ट्रक और मशीनों को अपने कब्जे में लिया।
भारी मात्रा में हुआ अवैध उत्खनन आधिकारिक जानकारी के मुताबिक जावली में तवा नदी से सरकारी रकबे से भारी मात्रा में अवैध उत्खनन हुआ है। यह खनन कई महीनों से जारी था। इसकी शिकायतें भी कमिश्नर सहित कलेक्टर से हुई थी। बताया जाता है कि भोपाल और होशंगाबाद के कुछ रेत माफियाओं ने सिंडीकेट बनाकर यहां अवैध खनन कर कारोबार चला रखा था। इसे आज ध्वस्त कर दिया गया। स्टाकों को भी जब्त किया गया है।

कार्रवाई के बाद रिपोर्ट तैयार नहीं
इससे पूर्व तीन दिन पहले ही प्रशासन एवं खनिज की टीम ने रायपुर-बांद्राभान में तीन स्थानों पर छापेमारी कर करीब 38 डंपर-एलपी ट्रकों को जब्त कर अवैध उत्खनन एवं परिवहन पकड़ा था। लेकिन जब्त किए गए थे २५ डंपर। अन्य को सांठगांठ कर छोड़ दिया गया। इस मामले में अब तक खनिज विभाग ने सीमांकन और जब्त डंपरों का प्रकरण बनाकर रिपोर्ट प्रशासन को नहीं सौंपी है। इनमें पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा के बेटे वैभव शर्मा और भोपाल के शिवम त्रिवेदी की खदान पर छापा मारा गया था।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here