Narmada Manav

हाेशंगाबाद। कृषि में मिनी पंजाब कहलाने वाला हमारा हाेशंगाबाद जिला प्रदेश के 52 जिले में गेहूं खरीदी में पहले स्थान पर है। 20 दिन में 204 केंद्रों पर 21 किसानों से 2 लाख 61 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है। इसमें से रविवार तक 2 लाख मीट्रिक टन गेहूं का परिवहन भी किया जा चुका है। गेहूं खरीदी के मामले में प्रदेश में दूसरे स्थान पर हरदा है। यहां पर 105 केंद्रों पर1 लाख 81 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया है। तीसरे नंबर पर सीहोर है। हालांकि, गेहूं बेचने वाले किसानों की सबसे अधिक संख्या सीहोर में है, लेकिन खरीदे गए गेहूं की मात्रा कम है। इधर, जिले में सोमवार से तहसील स्तर पर बनाए गए केंद्रों पर चना खरीदी भी शुरू हाे गई

जिले में 78490 किसानों से 24 मई तक 8.50 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदी का लक्ष्य है। जानकारी के मुताबिक जिले में 26 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी शुरू होना थी, लेकिन मेपिंग और केंद्र तय नहीं हो सके। इसके चलते 2 अप्रैल से गेहूं खरीदी शुरू हुई। पहले 78 केंद्रों पर खरीदी शुरू की। फिर केंद्र बढ़ाकर 204 कर दिए। आए दिन केंद्रों पर होने वाले विवाद के बीच अब तक 21542 किसानों से 2 लाख 61 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया। यह प्रदेश में पहली सबसे अधिक मात्रा है। अधिकारियों का मानना है कि जिला अापूर्ति, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति निगम व वेयर हाउस कार्पोरेशन की टीम ने मिलकर बेहतर काम किया है। कलेक्टर शीलेंद्र सिंह व जिला पंचायत सीईओ एसएस रावत लगातार खरीदी केंद्रों का जायजा लिया। अधिकारियों को खरीदी व्यवस्था में लगातार सुधार के निर्देश दिए। इसके चलते खरीदी व्यवस्था सुधरी।

मंडी के एक केंद्र सहित 11 केंद्राे पर चना खरीदी हुर्इ

जिले में समर्थन मूल्य पर सोमवार से चना खरीदी शुरू हाे गई। जिले में 11 केंद्र बनाए हैं। केंद्रों पर चना बेचने के लिए किसानों को एसएमएस भेज दिए हैं। छोटे किसानों का चना पहले खरीदा जाएगा। जिले के 11 खरीदी केंद्रों पर चना खरीदी शुरू हो जाएगी। किसानों से अभी 25 क्विंटल एक बार में चना खरीदा जाएगा। साेमवार काे नर्मदांचल साेसायटी ने 42 क्विंटल चना की खरीदी की है।




13 हजार किसानों को 252 करोड़ रुपए का हो चुका भुगतान

जिले में अब तक 18 हजार किसानों के बिल बन चुके हैं। उन्हें 400 करोड़ रुपए का भुगतान होना है। अब तक 13 हजार किसानों को 252 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है। इसके अलावा जिन किसानों के बिल बन चुके हैं, उनके मंगलवार तक राशि खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी। खरीदी के नाेडल अपर कलेक्टर एसएस रावत ने बताया कि किसान को भुगतान के मामले में भी जिले की स्थिति बेहतर है।

सीहोर जिले में सबसे अधिक 24028 किसान ने बेचा गेहूं, लेकिन मात्रा कम

प्रदेश के 52 जिलों में से सीहोर गेहूं खरीदी में तीसरे स्थान पर है। सीहोर में अब तक सबसे अधिक 24028 किसानों ने समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचा है, लेकिन उसकी मात्रा होशंगाबाद व हरदा जिले से कम है। सीहोर में अब तक 1 लाख 76 हजार 568 मीट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है।

1.81 लाख मीट्रिक टन खरीदी के साथ होशंगाबाद पहले स्थान पर

प्रदेश में 1 लाख 81 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदकर होशंगाबाद प्रदेश में दूसरे स्थान पर है। हरदा में 105 केंद्रों पर 15 हजार किसानों से अब तक गेहूं खरीदा जा चुका है। इसमें से 1 लाख 75 हजार 314 मीट्रिक टन गेहूं का परिवहन कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here