Narmada Manav
अल्पविराम (शांत समय)आत्मा की आवाज कैसे सुने?जीवन में आनंद बनाए रखने के लिए आवश्यक चार गुणईमानदारी, पवित्रता, निस्वार्थता और प्रेमहम अल्पविराम कैसे करेंअल्पविराम करने के लिए निम्न प्रक्रिया मददगार साबित हो सकती है1 रोजाना सुबह अथवा शाम को कम से कम 10 से 15 मिनट शांत और एकांत रहें यह प्रक्रिया लगातार 30 दिनों तक पूरी दृढ़ इच्छाशक्ति और संकल्प के साथ जारी रखें2 अल्पविराम के लिए पवित्र और शांत स्थान का चयन करें 3 नोटबुक और पेन साथ में रखें 4 सम्मानजनक और सुविधाजनक स्थिति में सीधे बैठें 5 शुरुआत में कुछ पवित्र पढ़ें अथवा स्मरण करें, जिन पर आपको अटल विश्वास हो उनकी प्रार्थना करें 6 फिर कुछ देर गहरी सांस लें 7 अब नोटबुक में उन सवालों को लिखें जिनका आपको समाधान चाहिए है8 अब समाधान पाने के लिए शांत और मौन रहते हुए अपनी अंतरात्मा से बातचीत करें और ईश्वर की आवाज सुनने का अभ्यास करें 9 जब भी आपको असुविधा लगे तो रुक जाएं10 अल्पविराम के दौरान पूरी तरह से खुद के प्रति ईमानदार रहें11 अंत में नोटबुक में वह सब कुछ लिखें जो शांत समय में आपको आभास हुआ था,आपने अपनी अंतरात्मा (ईश्वर की आवाज) की आवाज सुनी थी12 अंतरात्मा की आवाज का अनुसरण अपने जीवन में करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here