Narmada Manav

सीहोर विंध्यवासिनी सलकनपुर वाली माता का मंदिर इस बार नवरात्रि में कोरोनावायरस के चलते बंद रहेगा जिला प्रशासन और स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया की मंदिर 16 अक्टूबर से 2 नवंबर तक बंद रहेगा इस दौरान केवल पुजारी पूजा-अर्चना करेंगे आम लोगों का प्रवेश पूरी तरह बंद रहेगा यह निर्णय कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए जनप्रतिनिधियों के साथ जिला प्रशासन ने लिया बैठक में स्थानीय सांसद एसडीएम और जिले के कलेक्टर मौजूद रहे

सलकनपुर/प्राप्त जानकारी के अनुसार सलकनपुर में आज एक बैठक हुई जिसमें सांसद, प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में रही।
सलकनपुर स्थित मां विजयासन धाम 16 अक्टूबर से 2 नवंबर तक पूरी तरह से बंद रहेगा। इस दौरान मंदिर के पुजारियों द्वारा विधिवत पूजा तो की जाएगी, लेकिन आम लोगों को मातारानी के दर्शन नहीं हो सकेंगे। इसको लेकर शुक्रवार को बैठक का आयोजन किया गया, इसमें सांसद, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य जनप्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में निर्णय लिया गया कि नवरात्रि के दौरान मंदिर को पूरी तरह से बंद रखा जाए।
17 अक्टूबर से नवरात्रि की शुरूआत हो रही है। नवरात्रि को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार शायद सलकनपुर मंदिर को खोला जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इस संबंध में शुक्रवार को सलकनपुर में एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में सांसद रमाकांत भार्गव ने कहा कि कोरोना महामारी अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुई है। भोपाल, इंदौर सहित प्रदेशभर में इसके पाॅजिटिव मरीज लगातार सामने आ रहे हैं, इसलिए इसका खतरा अब भी बरकरार है। कोरोना महामारी को रोकने के लिए इसके बनाए गए नियमों का पालन कराना अब भी जरूरी है। इसलिए इस बार भी नवरात्रि में मेला भी नहीं लगाया जाएगा एवं मंदिर भी नवरात्रि में बंद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि नवरात्रि के दौरान सलकनपुर में देशभर से बड़ी संख्या में दर्शनार्थी दर्शन के लिए आते हैं, ऐसे में खतरा ज्यादा है। कि कोरोना महामारी के कारण इस बार भी नवरात्रि के दौरान मेले का आयोजन नहीं किया जाए और मंदिर भी बंद रखा जाए, ताकि कोरोना के मरीजों पर अंकुश लग सके। इस बात का ही समर्थन किया कि नवरात्रि में मंदिर को बंद रखा जाए।
कलेक्टर ने भी किया समर्थन-
बैठक में कलेक्टर अजय गुप्ता ने कहा कि जो भी निर्णय लिया गया वह लोकहित में लिया गया है कि नवरात्रि के दौरान मंदिर को बंद रखा जाए और मेले का आयोजन भी नहीं किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here