Narmada Manav

21 फरवरी शिवरात्रि पर हुई प्राण प्रतिष्ठा

होशंगाबाद। अंकिता नगर स्थित प्रथमेश्वर मंदिर प्रांगण में 21 फरवरी महाशिवरात्रि पर भगवान भोलेनाथ की 11 फिट ऊंची प्रतिमा का प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। समिति के विशाल दीवान एवं रुपेश राजपूत ने बताया कि प्रथमेश्वर मंदिर के प्रांगण में बने गार्डन के मध्य में विशेष जल , बालू और पत्थरों से तैयार की गई भोलेनाथ भगवान शंकर की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा हुई। भगवान भोलेनाथ की जटाओं से गंगा मैया प्रकट हुई जो की आकर्षक का केन्द्र है।

सात नदियों का जल और बालू से बनी है प्रतिमा

समिति के सदस्यों ने बताया कि भगवान भोलेनाथ की 11 फिट ऊंची प्रतिमा के निर्माण में विशेष रूप से नर्मदा , तवा , बेतवा , ताप्ती , गंगा , यमुना सहित नर्मदा की अन्य सहायक नदियों के जल का उपयोग प्रतिमा निर्माण में किया गया है तथा इन सभी नदियों की बालू एकत्र कर प्रतिमा निर्माण में लगाई गई है।

सप्तधारा के पत्थरों से बनाया पहाड़

भोलेनाथ की प्रतिमा में पहाड़ का निर्माण नर्मदा नदी के तट स्थित सप्तधारा के पत्थरों से किया गया है। उज्जैन से बुलाई गई विशेष भस्मी भी मूर्ति निर्माण के दौरान उपयोग की गई है। मूर्ति का निर्माण मूर्तिकार सीताराम द्वारा किया गया है। इस दौरान अंकिता नगर में भव्य भोलेनाथ की बारात भी निकाली गयी और दिन में अभिषेक भगवान शंकर का सम्पन्न हुआ।

भगवान शंकर की प्रतिमा का अनावरण मोहल्ले की कन्याओ द्वारा सम्पन्न हुआ। महाआरती से साथ साथ 1001 दीपो से की गई ओर महाप्रसाद का वितरण किया गया।जिसमें संसद उदयप्रताप सिंह जी,नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल, माया नारोलिया,हंस राय,नगर प्रचारक तरुण जी यादव,नीलेश ,प्रदीप सुनील ,अनिल ,महेश, अतुल, अभिजीत ,भूषण, सतेन्द्र ,लल्लू निहाल ,शुभम ,अभिषेक गुरु ,रंजीत सिंह ठाकुर,अरुण गौर,विकास,अभिषेक चोरे,जितेंद्र शर्मा,अनिल मिश्रा सहित शहर के एवं मोहल्ले के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here